ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी’ पार्ट-2: अमित शाह पहुंचे लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान, उधोगपति रहे मौजूद

Head Lines

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष तथा नरेंद्र मोदी सरकार में गृह मंत्री अमित शाह ने लखनऊ में आज ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 #GroundBreakingCeremonyका आगाज करने के साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार को बड़ी सफलता पर बधाई दी। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में गृह मंत्री अमित शाह ने 65 हजार करोड़ के निवेश की 290 परियोजनाओं की नींव रखी। इसके बाद तो देश के बड़े औद्योगिक घरानों ने नौकरियों की बौछार कर दी।

गृह मंत्री अमित शाह ने इस अवसर पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि हम देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाएंगे। इस पर कई लोग इस पर टीका टिप्पणी करते रहे। मैं आज कहना चाहता हूं कि देश की अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर पर ले जाने की बुनियाद हमारी सरकार डाल चुकी है। शाह ने कहा कि आज यहां इस कार्यक्रम से 250 परियोजनाओं का शिलान्यास और 65 हजार करोड़ रुपये का इंवेस्टमेंट होने जा रहा है। इतने कम समय पर 25 प्रतिशत से ज्यादा एमओयू को जमीन पर उतारने के लिए मैं राज्य सरकार को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी सिर्फ देश में सरकार चलाने के लिए नहीं, देश को आगे बढ़ाने की सरकार चला रहे हैं। पांच वर्ष में मोदी जी ने देश को 11वें से छठे नंबर की इकॉनमी पर ला दिया है। मोदी जी खुली आंख से सपने देखते है और जो खुली आंख से सपने देखते है उनको नींद नही आती है। उन्होंने कहा था कि पिछली सरकारों ने सरकार चलाने के लिए सरकार चलाई है, लेकिन हम तो देश को बढ़ाने के लिए सरकार चलाएंगे। शाह ने कहा कि 2014 में मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनी। उसके बाद मोदी सरकार ने सभी सेक्टर पर काम किया।

अमित शाह ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा टैक्स रिफॉर्म, जीएसटी आज हमारे देश में सुचारु रूप से चल रहा है। जब हम जीएसटी का बिल लाए तो दुनिया भर के लोग कहते थे कि भारत में यह सफल कैसे हो पाएगा। आज मोदी जी के नेतृत्व में पूरे देश में जीएसटी पूरी सफलता के साथ लागू किया जा रहा है। आज देश में आयकर भरने वालों की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है, क्योंकि जब आय बढ़ती है और क्षमता बढ़ती है तभी तो लोग टैक्स भरते हैं।  पहले 3 करोड़ 80 लाख लोग इनकम टैक्स भरते थे, लेकिन आज 6 करोड़ 70 लाख लोग इनकम टैक्स भरते हैं।

शाह ने कहा कि लखनऊ में फरवरी 2018 में जब 4 लाख 68 हजार करोड़ रुपये के निवेश के लगभग 1000 एमओयू हुए थे तब भी मुझे बहुत खुशी हुई थी। आज उनको धरातल पर उतरता देख भी मैं बहुत खुश हूं। आज उत्तर प्रदेश के अंदर विकास की एक नई शुरुआत हुई है, इससे देश के सबसे बड़े प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। देश में सबसे सफल इंवेस्टर्स समिट की शुरुआत गुजरात ने की थी। यह तो बेहद आश्चर्य की बात है कि उत्तर प्रदेश में भी इतने कम समय में सीएम योगी आदित्यनाथ जी इसे सफल बनाया है।

अमित शाह ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को बधाई दी और कहा कि मुझे कल्पना नही थी कि एक वर्ष के अंदर 25 प्रतिशत काम जमीन पर उतर जाएगा। देश में सबसे सफल इन्वेस्टर समिट गुजरात मे हुई थी , लेकिन उत्तर प्रदेश ने मुझे चौकाया है। एक वर्ष में इतना निवेश हुआ यह काफी बड़ी उपलब्धि है। शाह ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ के पास प्रशासनिक अनुभव नहीं था। इन्होंने तो कभी म्यूनिसपैलिटी भी नहीं चलाई। इनके चयन पर लोगों को आश्चर्य हुआ। हमने और पीएम मोदी जी ने निष्ठा और परिश्रम के मानक पर योगीजी के हाथ मे यूपी का भाग्य सौंप दिया। आज हमें अपने उस फैसले पर संतोष है।

तीन लाख नौजवानों को मिलेगी नौकरी : योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर कहा कि मैं ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह-2 में आए सभी गणमान्य अतिथियों का प्रदेश की जनता की ओर से हार्दिक अभिनंदन करता हूं। उन्होंने अपने संबोधन भाषण में कहा कि उत्तर प्रदेश ने इस वर्ष निर्यात में अब तक की सबसे अधिक 28 प्रतिशत की बढ़ोतरी प्राप्त की है। जिससे अब उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदल रही है। आज जिन योजनाओं की नींव रखी गई है, उनसे तीन लाख नौजवानों को नौकरी मिलेगी। इसके साथ ही प्रदेश में  65000 करोड़ के निवेश होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था सुधरी हैं। जिससे उद्योगपतियों से वन टू वन कनेक्ट हुए। वहीं निवेश मित्र बनाए गये। उनके माध्यम से समस्याओं का समाधान किया गया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मेरे सामने जब भी चुनौती आई मैंने पहला फोन अमित शाह जी को ही मिलाया। वह हमेशा लक्ष्य को प्राप्त करने की राह दिखाते हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी में राजनीति करने वाले भी उत्तर प्रदेश को जितना नहीं जानते होंगे, उतना अमित शाह प्रदेश और उसकी परिस्थितियों को जानते हैं। उन्होंने कहा कि श्री शाह ने यूपी को समय- समय पर राह दिखाई, जिससे उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन की इकोनॉमी बनाने का पीएम का सपना पूरा करेंगे। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इससे तीन लाख नौजवानों को नौकरी मिलेगी वहीं 65000 करोड़ के निवेश होगा।मेदांता ग्रुप ने 15 हजार, तो लूलू इंटरनेशनल ने पांच हजार और पेप्सिको इंडिया ने 1500 लोगों को नौकरी देने की घोषणा कर दी। लखनऊ मेदांता अस्पताल का 15 अक्टूबर को लोकार्पण किया जाएगा।

योगी आदित्यनाथ का काम ही सफलता की नींव : गौतम अडानी

अडानी ग्रुप के गौतम अडानी ने कहा कि भारत के विकास और ट्रांसफॉर्मेशन की स्टोरी उत्तर प्रदेश से जुड़ी है। उत्तर प्रदेश के बिना तो कुछ भी नहीं है। यह तो तह है कि उत्तर प्रदेश ही भारत के विकास को और आगे ले जाएगा। मैं तो अमित शाह को बीते 25 वर्ष से जनता हूं। हम दोनों कंपनिया चलाते थे। अमित भाई को उस समय से जानता हूं जब हम दोनों 25 वर्ष के थे। आप पीवीसी पाइप की फैक्ट्री चलाते थे और में प्लास्टिक मटेरियल की सप्लाई करता था। आप अपने उद्देश्यों को पूरा करने के लिये हमेशा अटल रहे। राजनीति के चाणक्य के रूप में आप कभी चुनाव नहीं हारे। आपने भाजपा को अजेय चुनाव मशीन में बदल दिया। उन्होंने कहा कि शाह ने जिस तरह भाजपा अध्यक्ष बन कर भाजपा को जनादेश दिलवाया। उसी तरह गृहमंत्री के पद से एक विश्वस्त भारत का निर्माण कर रहे हैं। अडानी ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ का काम ही सफलता की बुनियाद है। यूपी आपकी लीडरशिप में आगे बढ़ रहा है। गौतम अडानी ने कहा कि देश की विकास गाथा यूपी से सीधे जुड़ी है। योगी आदित्यनाथ ने यूपी में भ्रष्टाचार खत्म कर सबका साथ सबका विकास के नीति का क्रियान्वयन किया है। यूपी ने जिस तरह से निवेश आकर्षित किया है वह अदभुत है।।यूपी ने जिस तरह से निवेश आकर्षित किया है वह अदभुत है। 2018 में हमने 5000 करोड़ रुपये पॉवर ट्रांसमिशन के लिये लगाने को कहा था। हमारे दो प्लांट पर काम चल रहा है। इस क्षेत्र में 5000 हजार और खर्च करने की योजना है। 15 हजार टन का स्टेट ऑफ आर्ट स्टील उत्पादन केंद्र धमोरा में विकसित कर रहे हैं। वाराणसी में मल्टी मॉडल रिवर टर्मिनल विकसित करेंगे। डेटा सेंटर और रक्षा क्षेत्र में भी हम यूपी में निवेश करेंगे। योगीजी आप राज्य और राजनीति को बदल रहे हैं। आप शासन से भारत के लिये नई परिभाषा लिख रहे हैं।

मेदांता अस्पताल लखनऊ से 15 हजार लोगों को रोजगार

मेदांता के डॉ. हरीश त्रेहन ने कहा कि मैं लखनऊ का पढ़ा हुआ हूँ, यह मेरा प्रोफेशनल जन्म स्थान है। प्रदेश सरकार निवेशकों की मदद कर रही है। महज ढाई साल में लखनऊ मेदांता अस्पताल तैयार किया गया है। 15 हजार लोगों को को मेदांता लखनऊ से रोजगार मिलेगा। डॉ. त्रेहन ने कहा कि सभी अधिकारियों का सहयोग रहा तो लखनऊ में लखनऊ मेदांता रिकार्ड समय मे तैयार हुआ। यूपी में कानून व्यवस्था बहुत अच्छी है। लखनऊ के बाद नोएडा, गोरखपुर और वाराणसी में भी मेदांता अस्पताल खोले जाएंगे। नोएडा में आज 700 बेड के मेदांता अस्पताल का शिलान्यास किया जा रहा है। लखनऊ के एक हजार बेड के मेदांता अस्पताल से करीब 15000 लोगों को रोजगार मिलेगा। लखनऊ मेदांता अस्पताल का 15 अक्टूबर को लोकार्पण किया जाएगा।

ज्यूपिटर हॉल में मेदांता के डॉ. हरीश त्रेहन ने कहा कि प्रदेश सरकार निवेशकों की मदद कर रही है। सिर्फ ढाई साल में लखनऊ मेदांता अस्पताल तैयार किया गया है। डॉ. त्रेहन ने कहा कि सभी अधिकारियों का सहयोग रहा तो लखनऊ मेदांता रिकार्ड समय मे तैयार हुआ। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था काफी अच्छी है। लखनऊ के बाद नोएडा, गोरखपुर, वाराणसी व प्रयागराज में भी मेदांता अस्पताल खोले जाएंगे। नोएडा में आज 700 बेड के मेदांता अस्पताल का शिलान्यास किया जा रहा है। लखनऊ के एक हजार बेड के मेदांता अस्पताल से करीब 15000 लोगों को रोजगार मिलेगा। लखनऊ मेदांता अस्पताल का 15 अक्टूबर को लोकार्पण किया जाएगा। यह सरकार का सहयोग ही है कि महज ढाई साल में हमने असपताल बना लिया।सभी उद्योगपति लॉ एंड आर्डर की तारीफ कर रहे हैं। अब तो लग रहा है कि जिसने यूपी में काम नहीं किया, इंडिया में काम नहीं किया।


ब्रेकिंग सेरेमनी में भाग लेना सौभाग्य की बात : एम. चंद्रशेखर 

टाटा ग्रुप के एम चंद्रशेखर ने कहा कि दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग में भाग लेना सौभाग्य की बात है। उत्तर प्रदेश में काम करने का मतलब सफलता तय है। यहां हमारी टाटा मोटर्स है और टीसीएस है। नोएडा व वाराणसी में रिटेल कंपनी टाइटन और वेस्टसाइट है। हम यूपी में बहुत संभावनाएं देख रहे हैं। हम यहां अपना विस्तार जारी रखेंगे। टीसीएस जब लखनऊ जा रही थी। तब योगी आदित्यनाथ जी ने हमें रोका। यहां हमारा कैंसर सेंटर फरवरी में चालू होगा। यूपी देश का सबसे महत्वपूर्ण राज्य है। देश को 5 ट्रलियन डॉलर इकॉनमी बनाने में यूपी की अहम भूमिका है। अन्य उपक्रमों के साथ टाटा पॉवर ने भी यूपी में काम शुरू किया है। एविएशन, अक्षय ऊर्जा, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी व पयर्टन में यहां असीम सम्भवना है। यूपी में हम 30 हजार क्षमता का ट्रेनिंग सेंटर बनाने के अंतिम चरण है। टाटा ट्रस्ट भी काफी काम कर रहा है।


पेप्सिको इंडिया 1500 नौकरियां सृजित करेगी : अहमद अल शेख 

पेप्सिको इंडिया के अहमद अल शेख ने कहा कि हमारी कंपनी 514 करोड़ रुपया का निवेश कर 1500 नौकरियां सृजित करेगी। हमारे संयंत्र से प्रदेश के आलू किसानों को लाभ मिलेगा। प्रदेश में पेप्सिको इंडिया 514 करोड़ का निवेश करेगा। पेप्सिको इंडिया के सीईओ अहमद अल शेख ने कहा कि हम 2022 तक स्नैक्स बिजनेस को दोगुना करेंगे। यूपी में स्नैक्स विनिर्माण संयंत्र लगाया जाएगा। पेप्सिको के अहमद अल शेख ने कहा भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। मैंने किसी और देश में अपने जड़ों से जुड़े रहते हुए आगे बढऩे की इतनी भूख नहीं देखी। हम 165 हजार करोड़ का निवेश कर रहे हैं। 24 हजार किसान हमारे नेटवर्क से जुड़े हैं। भारत पेप्सिको के लिये तीसरा सबसे बड़ा आलू आपूर्ति कर्ता देश है। हम यूपी में 500 करोड़ रुपये फूड प्रोसेसिंग में खर्च करेंगे। यूपी में हम अपने उत्पादों के लिये 7000 टन आलू यूपी से लेंगे। यूपी में सरकार के साथ हमारा अनुभव काफी बेहतर रहा है। प्रकिया का डिजिटिलाइज किया जाना और सिंगल विंडो सिस्टम काफी अच्छा प्रयोग है।


यूपी में निवेश का वातावरण काफी बेहतर : सुधीर मेहता

टोरंट ग्रुप के सुधीर मेहता ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में निवेश का वातावरण काफी बेहतर हुआ है। हमने आगरा में सात दिन लगातार 24 घंटा बिजली के लक्ष्य को बेहतर किया है और कंज्यूमर सुविधा बेहतर की है। हमने पॉवर और गैस सेक्टर में 6000 करोड़ के निवेश का वादा किया था। इसमें 3000 करोड़ रुपये का जमीन पर उतरने जा रहा है। 14 जिलों में हमने गैस सप्लाई नेटवर्क विकसित किया है, जिसका चार लाख लोगों को फायदा होगा। अगले चरण 3000 करोड़ खर्च कर 2000 सीएनजी स्टेशन लगाने जा रहे हैं।

लूलू इंटरनेशनल से लखनऊ में पांच हजार लोगों को सीधा रोजगार

दुबई में बड़ा नाम लूलू इंटरनेशनल के यूसुफ अली ने कहा योगी आदित्यनाथ जी के प्रयास से हम उत्तर प्रदेश में बड़ा निवेश करेंगे। हम लखनऊ में पांच हजार लोगों को सीधा रोजगार देंगे। हम लखनऊ में दो ही हजार करोड़ की लागत से एशिया का सबसे बड़ा शॉपिंग मॉल बना रहे हैं। हम उत्तर प्रदेश में फूड प्रोसेसिंग की यूनिट लगाने का भी प्लान कर रहे है। विदेश में हम यह कहते है कि मोदी जी के मेक इन इंडिया ने बड़ा बदलाव किया है। यूसुफ अली ने कहा कि विवेकानंद जी ने कहा था कि लीडर वही है जिसका काम लोगों को आगे बढ़ाने का है। मोदी जी बड़े लीडर हैं। सभी को साथ लेकर हो साथ सबका विकास हो, हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी उसके बड़े उदाहरण है। यह देश का सौभाग्य है कि हमारे पास नरेंद्र मोदी जैसा पीएम है। भारत में बाहर हम भारतीयों के सबसे बड़े नियोक्ता है। हम लखनऊ में 2000 करोड़ खर्च कर नार्थ इंडिया का सबसे बड़ा मॉल बना रहे हैं। जिसमे 5000 लोगों को प्रत्यक्ष और 10 हजार  लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। इसमें 70 प्रतिशत कार्य पूरा चुका है। हम वाराणसी और नोएडा में भी दो और मॉल बनाएंगे। साहिबाबाद में भी मॉल बनाएंगे। इसके साथ ही यूपी में भी फूड प्रोसेसिंग प्लांट लागयेंगे। हिमाचल प्रदेश के सीएम मिले थे तो मैंने उनसे कहा कि योगी आदित्यनाथ जैसा विजन और सक्रियता विकसित करिये।

भारत बनेगा एक्सपोर्ट हब : एचसी होंग

सैमसंग के एचसी होंग ने कहा कि उत्तर प्रदेश से हमारा ऐतिहासिक रिश्ता है। अयोध्या से हमारा रिश्ता रहा है। पिछले साल हमने नोएडा में सबसे बड़ी मोबाइल फैैक्टरी शुरू की थी।

हम यहां से दुनिया के लिये मोबाइल बना रहे हैं और भारत को एक्सपोर्ट हब बना रहे हैं। यूपी में विश्व स्तरीय इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित हुआ है। हम यूपी के विश्वसनीय पार्टनर बने रहेंगे।

उत्तर प्रदेश में बड़े स्तर पर हो रहा है काम : संदीप सोमानी

फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के चेयरमैन संदीप सोमानी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बड़े स्तर और काम हो रहा है। उत्तर प्रदेश अपनी पालिसी से लागतार बड़े स्तर के काम की ओर बढ़ रहा है। प्रोएक्टिव गवर्नमेंट सभी को बड़े स्तर पर मौके दे रही है। यूपी में पहले निगेटिविटी बहुत थी। यहां पर पहली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के बाद 81 इंडस्ट्रीज में प्रोडक्शन शुरू हो चुका है। यूपी में कानून व्यवस्था बेहतर और 24 घंटे बिजली देने के वादे के बाद उद्योगपतियों और यूपी सरकार के बीच विश्वास बढ़ा है। निवेश प्रस्तावों का जमीन पर उतरना सुखद है। शानदार परिवेश विकसित किया है। आपकी सरकार आत्ममुग्ध नहीं है। यह निरंतर कार्य कर रही है और प्रोजेक्ट को कागजों से निकाल धरातल पर उतार रही है। यह एक ईमानदार व पारदर्शी सरकार है।

पीएम मोदी ने देश में शुरू की उद्योग की नई राह : महाना

औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि मेक इन इंडिया के नारे से पीएम मोदी ने देश में उद्योग की नई राह शुरु की है। यहां पर सभी निवेशक बंधुओं का स्वागत है। एक वर्ष में यह दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरिमनी है। देश के सभी राज्यों से निवेश के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ निवेशकों को आमंत्रण दिया था। 2014 में मेक इन इंडिया के नारे से नए युग की शुरुआत हुई। योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बनी सरकार ने कानून-व्यवस्था और बेहतर परिवेश के जरिये प्रदेश और इंडस्ट्री के कनेक्ट को दूर किया। पहली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरमनी की इकाइयों का कमर्शल प्रोडक्शन शुरू हो चुका है। हमने 21 सेक्टोरल पॉलिसी बनाकर उद्योगों को सहजता दी। निवेश मित्र की तहत सिंगल विंडो व्यवस्था विकसित की। 54 हजार निवेशकों के आवदेन इसके माध्यम से आये हैं, इसमें 47 हजार को हम प्रॉसेस कर चुके हैं। यूपी को हम नए युग की ओर ले जाएंगे।

इससे पहले लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट, अमौसी पर गृह मंत्री का स्वागत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने किया। अमित शाह सीमा सुरक्षा बल के विशेष विमान से लखनऊ पहुंचे। अमित शाह सीमा सुरक्षा बल के विशेष विमान से लखनऊ पहुंचे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में यह दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 60 हजार करोड़ की याजेनाओं की नींव रखी थी। इन प्रोजेक्ट के पूरे होने पर ढाई लाख लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

कार्यक्रम में उद्योगों पर आधारित छह सत्र भी होंगे। दोपहर दो बजे से साढ़े तीन बजे तक फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री, डिफेंस एंड एयरोस्पेस मैन्युफैक्चरिंग और इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युुफैक्चरिंग पर अलग-अलग हॉल में सत्र चलेंगे। वहीं, दोपहर 3.45 से शाम 5.15 बजे तक टूरिज्म एंड फिल्म, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी और पावर एंड रिन्युएबल एनर्जी पर केंद्रित सत्र आयोजित किए जाएंगे। इन सभी सत्रों की अध्यक्षता विभागीय मंत्री करेंगे, जबकि स्वागत भाषण औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना का होगा।

अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास विभाग के औद्योगिक परियोजनाओं के भूमिपूजन समारोह को लेकर सरकार खासी उत्साहित है। बीते वर्ष 29 जुलाई को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगभग 60 हजार करोड़ रुपये की 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया था। सरकार का दावा है कि उनमें से 35 इकाइयों में उत्पादन शुरू हो चुका है और शेष में से दो को छोड़कर सभी का काम चल रहा है।

पश्चिम में सर्वाधिक 54 फीसद निवेश

कहां             कितना निवेश

पश्चिमांचल :  54 फीसद

मध्यांचल :    19 फीसद

पूर्वांचल :      13 फीसद

बुंदेलखंड :    04 फीसद

प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में : 10 फीसद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *