आपने अपने बच्चे को दे रखा है टच स्क्रीन मोबाइल तो हो जाएं सावधान

Gadget
लंदन ब्रिटेन के चिकित्सकों का कहना है कि, टचस्क्रीन फोन और टैबलेट के अधिक इस्तेमाल से बच्चों की उंगलियों की मांसपेशियां सही ढंग से विकसित नहीं हो पा रही है।
वह इतनी कमजोर होती जा रही हैं कि, उन्हें पेंसिल या पेन पकड़ने में दिक्कतें आ रही हैं।
ब्रिटेन के हाउस ऑफ इंग्लैंड फाउंडेशन एनएचएस ट्रस्ट की प्रधान पीडियाट्रिक थेरेपिस्ट शैली पांडे ने कहा उसने मजबूत और निपुण हाथों वाले बच्चे स्कूल में नहीं आ रहे हैं,
जो 10 साल पहले देखने को मिलते थे।

भाई ने कहा कि टेक्नोलॉजी का अधिक इस्तेमाल करने वाले बच्चों को जब लिखने के लिए पेंसिल दी जाती है, तो वह उसे पकड़ने में असमर्थ होते हैं।
क्योंकि पेंसिल पकड़ने और चलाने के लिए आपकी उंगलियों की बारीक मांसपेशियों पर आपका मजबूत नियंत्रण होना चाहिए, इस गुण को विकसित होने में वक्त लगता है।
समाचार पत्र गार्जियन नेपाल के हवाले से कहा है, कि माता पिता के लिए, बच्चों को ब्लॉक बनाने, खिलौने या रस्सियां कूदने, जैसे मांसपेशियां मजबूत बनाने वाले खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित करने की बजाय, उन्हें टच स्क्रीन फोन पकड़ा देना ज्यादा आसान होता है।
लेकिन ऐसा करने से उनके हाथों की मांसपेशियों पर गहरा प्रभाव पड़ता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *